कॅरिअर डेवलपमेंट टिप्स

अपनी रूचि का करियर का चुनाव करने के पश्चात् उस पर विषयों का पूर्ण अधिकार प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि आप समय के पाबंद हो कर अध्ययन करें। क्योंकि नियमित अध्ययन ही आपको अपने लक्ष्य तक पहुंचाने में मदद कर सकता है। लेकिन अध्ययन के लिए क्या तरीके अपनाए जाएं कि उसका अधिकाधिक लाभ मिल सके, आइए जानें। स्टडी के लिए एक स्थान का निर्धारण करें,ऐसा स्थान जहां सर्वाधिक एकाग्रता पा सकें और किसी प्रकार का व्यवधान न हो। उन सभी वस्तुओं का संग्रह वहां करें जो स्टडी के लिए जरूरी हैं।
अध्ययन के समय आपको ऐसी आवश्यक वस्तुओं के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े।  लेकिन ध्यान रहे, अनावश्यक वस्तुएं डेस्क पर न फैली रहें ।  पढऩे का एक समय निश्चित करें।रोजाना उसी समय पर पढऩे पर यह आपका रूटीन ही बन जाएगा।पढ़ाई के दौरान 30-40 मिनट के अंतराल पर ब्रेक लें।
कुछ पेय लें अथवा स्वयं को रिलेक्स करें। लेकिन यह इतना ही छोटा होना चाहिए कि आपकी एकाग्रता भंग न हो। एक स्टडी पार्टनर के साथ पढऩे से आपको पढ़ाई में मदद मिलती है,प्राब्लम साल्विंग आदि में सुविधा रहती है। अध्ययन के लक्ष्य तय करें कि आज आपको क्या और कितना पढऩा है और उस लक्ष्य को पूरा करने का प्रयत्न करें।  उस समय पढ़ाई करें जब आप अपने आप में सर्वाधिक अच्छा महसूस करें,आप स्टडी के लिए मानसिक रूप से अधिक अच्छे से तैयार हों,शेड्यूल को इस तरह तैयार करें  कि जब आपका आसान चैप्टर आपको उस समय पढऩे को मिले जब आप मानसिक थकावट महसूस कर रहे हों। निरंतर अंतराल में पानी पीएं। कॉफी आदि पीने से आपको आराम जरूर मिलता है,लेकिन यह एंग्जायटी बढ़ाती है,इसका  सेवन अधिक न करें। अधिक आरामदायक कुर्सी पर बैठ कर न पढ़ें,ताकि  आपके शरीर को उतना ही आराम मिले जितनी कि पढ़ते वक्त जरूरत है। अध्ययन के बाद पर्याप्त नींद लें,खास तौर पर परीक्षा के समय,नींद की कमी आपकी याददाश्त पर असर डालती है,और पढ़ा हुआ आप याद नहीं रख पाते। इन सब बातों का ख्याल रखते हुए आप अपने अध्ययन की और अधिक प्रभावी बना सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *