स्टेटमेंट ऑफ पर्पज

0

स्टेटमेंट ऑफ पर्पज में आप अपनी ओर से पूरे भरोसे के साथ यह जानकारी देते हैं कि आप क्या हैं, कॅरियर के अब तक के सफर में किन बातों ने आपको प्रभावित किया है, व्यक्तिगत या पेशेवर स्तर पर आपकी क्या रुचियां हैं और आप जीवन में क्या करना चाहते हैं।

दरअसल बिजनेस स्कूल आपसे एसओपी इसलिए मांगते हैं ताकि आपके बारे में उन बातों को भी जान सकें, जिन्हें आपके शैक्षणिक रिकॉर्ड या प्रवेश परीक्षा के जरिए पता नहीं किया जा सकता। यह आपकी योग्यताओं का गुणात्मक आकलन है, जिससे आपका कॅरियर लक्ष्य पता चल सके।

अच्छे एसओपी की खासियत-अच्छे एसओपी में यह साफ होता है कि आप मैनेजमेंट की पढ़ाई क्यों करना चाहते हैं और खासतौर से आवेदन किए गए संस्थान में ही प्रवेश क्यों चाहते हैं। इससे एमबीए के लिए आपकी उपयुक्तता या आपके लक्ष्य से एमबीए का जुड़ाव भी पता चलता है। मसलन आप अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग इत्यादि किसी क्षेत्र में कार्य करना चाहते हैं या फिर आप सिर्फ मैनेजमेंट के सिद्धांतों को जानकर इसे अपने पारिवारिक व्यापार में उपयोग करना चाहेंगे।

क्या है जरूरी-एसओपी का उपयोग आपकी अभिप्रेरणा और आकांक्षा को समझने में होता है। साक्षात्कार में आपसे पूछे जाने वाले सवालों की शुरुआत भी इसके आधार पर हो सकती है। इसलिए अपने द्वारा लिखित हर बात का बैकअप तैयार रखें।

अगर आपने लिखा है कि आप संप्रेषण की कला में निपुण हैं, तो इसे विभिन्न उदाहरणों की मदद से समझाने के लिए तैयार रहें। एसओपी में लीडरशिप एक ऐसा की-वर्ड है जो साक्षात्कारकर्ताओं को आकषिर्त करता है। यदि आप अपने एसओपी में इसका उल्लेख करते हैं तो तय मानिए कि साक्षात्कार में इस संदर्भ में आपसे सवाल पूछे ही जाएंगे, लिहाजा इसके लिए पहले से तैयार रहें।

प्रबंधकीय क्षमता-अंडरग्रेजुएट स्तर की पढ़ाई को मैनेजर की भूमिका के साथ जोड़ें। यह बताने की कोशिश करें कि आपने बैचलर डिग्री प्रोग्राम में इस लिहाज से क्या सीखा है और मैनेजर की भूमिका में इसकी क्या उपयोगिता है।

अगर आपने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की हो तो बताएं कि आपकी तार्किक व विश्लेषणात्मक क्षमता बेहतर है। पृष्ठभूमि अगर कॉमर्स है तो आंकड़ों के काम में विशेषज्ञता और अगर आपने बीए किया है तो आप उन्हें अपनी संप्रेषण कला के बारे में बता सकते हैं।

आपकी खासियत-आप अंतमरुखी हों या बहुमुखी, बेहतर यह है कि इन बातों को अपने भविष्य, काम और पेशे से जोड़ें। अगर आपमें लोगों से मिलने और उनसे जल्द दोस्ती करने की खासियत है तो आप मार्केटिंग बेहतर कर सकते हैं। लेकिन यहां शर्मीले और इंटेलीजेंट व्यक्ति भी पसंद किए जाते हैं।

इस तरह के लोग रिसर्च, ब्रांड बिल्डिंग और लॉजिस्टिक्स इत्यादि का कार्य संभाल सकते हैं। वर्तनी हो सही-एसओपी में वर्तनी का दुरुस्त होना और पूरी सामग्री का प्रवाह ठीक होना आवश्यक है। गूढ़ और तकनीकी शब्दों का उपयोग तब तक न करें, जब तक उसका सही अर्थ आप न जानते हों।

राय ले-एक बार एसओपी पूरा करने के बाद इसे अपने दोस्तों, परिजनों समेत इस पेशे से जुड़े लोगों को अवश्य दिखाएं। इन लोगों से इससे जुड़े सवाल आपसे पूछने को कहें। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here