साइकोलॉजी में करियर : कोर्स,अवधी, प्रक्रिया,सैलरी, पूरी जानकारी | Career in Psychology

0
psychology career in hindi
psychology career in hindi

मनोविज्ञान में बीए डिग्री और बीएससी में बहुत कम अंतर है। अंतर केवल चयनित विषयों में है। विज्ञान के विद्यार्थी विज्ञान विषयों और कला के विद्यार्थी कला और मानविकी से इस विषय का चुनाव करते हैं। यह इसके ऊपर निर्भर करता है कि आपका कॅरिअर लक्ष्य क्या है। यदि आपकी रूचि काउंसलिंग मनोविज्ञान, सोशल वर्क, इंडस्ट्रीयल एवं ऑर्गेनाइजेशनल मनोविज्ञान, सोशल मनोविज्ञान और डवलपमेंट मनोविज्ञान में है तब आपको मनोविज्ञान में बीए करने से लाभ मिलेगा। यदि आपकी रूचि जैव मनोविज्ञान, साइकोफार्मेकोलॉजी, न्यूरो साइंस, साइकिएट्री, न्यूरोसाइकोलॉजी, खेल मनोविज्ञान, साइकोथैरेपी, फार्मेसी, जेनेटिक काउंसलिंग, जन स्वास्थ्य, चिकित्सा, दंत चिकित्सा और पशु चिकित्सा में है तो आपको मनोविज्ञान में बीएससी ज्यादा लाभ मिलेगा। सिद्धांत में बीए का झुकाव सोशल की तरफ होना चाहिए और बीएससी का विज्ञान की तरफ जिसमें जैव मनोविज्ञान के संबंध में जानकारी दी होती है।

तो भी वास्तव में इनमें कोई अंतर नहीं है। बीए में बहुए ज्यादा सांख्यिकी पढऩा होता है। हालांकि दोनों डिग्रियों के पाठ्ïयक्रम में कई चीजें एक-दूसरे को ओवरलैप करती है, बीएससी पाठ्ïयक्रम में व्यवहार और मानसिक कार्यों के जैविक और जैव रासायनिक आधार को ज्यादा महत्व दिया जाता है, जबकि बीए डिग्री में मानव व्यवहार और मनोवैज्ञानिक कार्यों के सामाजिक आधार के ऊपर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया जाता है। कुछ बेहतर विश्वविद्यायल निम्न हैं-
-अन्नामलाई विश्वविद्यालय, मदर टेरेसा वीमेन्स विश्वविद्यालय, चेन्नई, तमिलनाडु
-पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़
-मुंबई विश्वविद्यालय, महाराष्टï्र
– मद्रास विश्वविद्यालय (बीएसी उपलŽध कराता है)।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here