लिखने के लिए सही ग्रिप क्यों है जरूरी ?

0

बच्चों स्कूल में जब आप पेन या पेंसिल से लिखते हैं तो क्या आपने कभी अपनी उंगलियों, अंगूठे या कलाई में दर्द महसूस किया है? क्या आपने कभी अपने किसी दोस्त को कुछ अजीब तरह से पेन या पेंसिल पकड़कर लिखते देखा है? यदि हां, तो आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि पेन, पेंसिल को ग्रिप करने का सही तरीका क्या है और कौनसे तरीके इस दौरान गलत हो सकते हैं।

क्वाड्रिपॉड ग्रास्प
इस ग्रिप में पेंसिल रिंग फिंगर पर टिकी होती है अौर अंगूठे-तर्जनी और मध्य उंगलियों की टिप से पेंसिल को कसकर पकड़ा होता है।
नुकसान :
लिखने की स्पीड कम होती है।
तर्जनी और रिंग फिंगर पर जोर पड़ता है।

फिस्टेड ग्रास्प
इस तरह की ग्रिप में पेन-पेंसिल को पूरी मुट्‌ठी में जोर से पकड़कर लिखा जाता है।
नुकसान :
इस तरह लिखने से हैंडराइटिंग खराब होती है।
कलाई में दर्द की समस्या होती है।

हूप्ड रिस्ट
इस ग्रिप में पेंसिल अंगूठे और पहली तीन उंगलियों के बीच होती है और कलई पूरी तरह से मुड़ी हुई होती है।
नुकसान :
खराब हैंडराइटिंग के कारण सभी का ध्यान जाता है।
कलाई और काेहनी कमजोर होती है।

फाइव फिंगर ग्रिप
इस तरह की ग्रिप में पेन को अंगूठे और चारों उंगलियों की टिप से पकड़ा जाता है।
नुकसान :
उंगलियां कमजोर होती हैं।
हाथ की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है।
———————-
डायनामिक ट्राइपॉड ग्रिप
यह ग्रिप सबसे बेहतर ग्रिप है। इसमें पेन या पेंसिल को अंगूठे और पहली उंगली की टिप से पकड़ा जाता है और मध्य उंगली पर पेंसिल टिकी रहती है। इसमें अंगूठे और उंगली के बीच गैप रहता है।

ये हैं फायदे—-
सुदर हैंडराइटिंग होती है।
लिखने की स्पीड बढ़ती है।
उंगलियां और कलाई पर जोर नहीं पड़ता और मजबूती मिलती है।
हाथों में कभी दर्द नहीं होता।
तो बच्चों आपको यह पता चल गया है कि सही और गलत ग्रिप क्या है। यदि आपकी गलत ग्रिप होने की वजह से आप भी दर्द और अन्य परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो यह एक्सरसाइज करें।
1. एक पेपर लें और अंगूठे व उंगलियों की टिप से पकड़कर उसकी पतली-पतली स्टिप्स फाड़ें।
2. अंगूठे के साथ अलग-अलग उंगलियों का इस्तेमाल करके कपड़े वाली चुटकी से कोई भी छोटा सामान उठाएं। जैसे- पेन, रबड़ या शॉर्पनर हर बार अलग-अलग उंगलियों से उठाएं।
3. कलाई और उंगलियों की एक्सरसाइज करें। जैसे कि मुट्‌ठी बांधें और उंगलियां फैलाकर खोलें या दोनों हाथ मिलाकर नमस्ते करें और हल्के से आपस में दबाएं।
4. ट्राइपॉड शेप की पेंसिल का इस्तेमाल करें।
5. अखबार लें और कैंची से सीधी-सीधी लाइन काटें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here