symptoms-for-thyroid-problem

थाइराइड से बचने के लिए खाएं —
प्याज और लहसुन, सोयाबीन से रहें दूर—

थाइराइड को साइलेंट किलर माना जाता है, क्योंकि इस डिजीज के लक्षण बहुत धीरे-धीरे पता चलते हैं। दरअसल, थाइराइड ग्लैंड थाइरॉक्सिन हॉर्मोन बनाती है, जो हमारी बॉडी की ऊर्जा खर्च करने की क्षमता और कई फंक्शन्स पर असर डालती है।
धनिएका पानी : एक गिलास पानी में 2 चम्मच साबुत धनिया रात भर भिगोकर रखें सुबह इस पानी को उबालें और इसमें चुटकी भर नमक डालकर पी लें।
जंक फूड न खाएं : जंक फूड और फास्ट फूड वजन बढ़ाने के साथ-साथ थाइराइड ग्लैंड पर बुरा असर डालते हैं, इसलिए इन्हें न खाएं।
पालक और नींबू : रात को सोने से पहले एक कप पालक के रस में आधा नींबू का रस मिलाकर पीएं।
सोया खाएं : सोयाबीन थाइरॉइड पेशेंट्स की प्रॉब्लम बढ़ा देता है, इसलिए सोया फूड और सोया ऑयल खाने से बचें।
फूल गोभी से रहें दूर : फूलगोभी और ब्रोकली थाइराइड फंक्शन को कमजोर करते हैं, इसलिए इन्हें खाने से बचें।
मशरूम है मददगार: मशरूम खाने से थाइराइड की आशंका घटती है। इसमें भरपूर विटामिन होता है, जो थाइरॉइड ग्लैंड को बेहतर फंक्शन करने में हेल्प करता है।
लौकी का जूस : रोज सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पिएं, फिर आधे घंटे तक कुछ भी खाएं-पीएं। थाइराइड का खतरा टलेगा।
शहद और एप्पल विनेगर : रोज सुबह उठने के बाद गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद और आधा चम्मच एप्पल विनेगर डालकर पीएं।

प्याज और लहसुन—
रोज  सुबह शाम कच्चे लहसुन की कलियां खाकर पानी पीएं ऐसे ही सलाद में कच्चा प्याज खाएं। इनसे भरपूर विटामिन मिलेगा , जो थाइरॉइड फंक्शन सही रखने में हैल्पफुल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *