कॅरिअर डेवलपमेंट 9 टिप्स

0

कॅरिअर डेवलपमेंट के लिए नई जिम्मेदारी के साथ नए स्किल्स सीखना भी महत्वपूर्ण

नई पीढ़ी के एंप्लॉई एक जगह टिक कर काम नहीं करना चाहते। वे बार-बार बदलाव चाहते हैं और इसके लिए नई स्किल सीखने से भी परहेज नहीं करते…

नए जनरेशन के लोग अपने कॅरिअर में सफलता पाने के लिए अब पारंपरिक मार्ग को अपनाना छोड़ रहे हैं। ये जनरेशन एक ही कंपनी में काम करने के बजाय अन्य कंपनियों में भी दूसरे क्षेत्र में विकल्प की तलाश करती रहती हैै। इसके लिए वे कॅरिअर का क्षेत्र बदलने के साथ नए-नए स्किल भी सीखने के लिए तैयार रहते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार 24 वर्ष से कम उम्र के 10 फीसदी एम्प्लॉई 6 माह से भी कम समय में कार्य क्षेत्र बदलने के लिए तैयार रहते हैं। इसका फायदा यह होता है कि कुछ समय बाद वे कई स्किल में पारंगत हो जाते हैं। वर्तमान में सामान्यत: यदि कोई बैंकिंग से कंसल्टिंग या फिर मार्केटिंग से प्रोडक्ट मैनेजमेंट क्षेत्र में प्रवेश करता है तो उससे किसी भी तरह का प्रश्न नहीं पूछा जाता है। विभिन्न कंपनियों में अलग- अलग स्किल के साथ काम करने वाले लोगों को पुराने जनरेशन के किसी स्पेशलिस्ट की अपेक्षा ज्यादा महत्व दिया जाता है। आइए जानते हैं कॅरिअर में आगे बढ़ने के लिए किन बदलावों की जरूरत पड़ सकती है:

अगल-अलग स्किल जरूरी
जनरेशन ज़ेड के लोग जल्दी बोर हो जाते हैं और अलग-अलग रोल के लिए हमेशा उत्सुक रहते हैं। एक डिपार्टमेंट से दूसरे डिपार्टमेंट में प्रवेश करने से उन्हें विभिन्न प्रकार के स्किल डेवलप करने का लाभ मिलता है। नई बातों की जानकारी मिलती है। नए स्किल के साथ प्रयोग करने से उन्हें अपनी पसंद के काम का पता चलता है जबकि पुराने जनरेशन के लोग एक ही फर्म और डिपार्टमेंट के साथ काम करते रहते थे। आप भी नए स्किल सीखने के लिए हमेशा तैयार रहें। यह आपको दूसरों से आगे और प्रासंगिक रखने में मदद करेगा।

नए जनरेशन के लोग अपने कॅरिअर में सफलता पाने के लिए अब पारंपरिक मार्ग को अपनाना छोड़ रहे हैं। ये जनरेशन एक ही कंपनी में काम करने के बजाय अन्य कंपनियों में भी दूसरे क्षेत्र में विकल्प की तलाश करती रहती हैै। इसके लिए वे कॅरिअर का क्षेत्र बदलने के साथ नए-नए स्किल भी सीखने के लिए तैयार रहते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार 24 वर्ष से कम उम्र के 10 फीसदी एम्प्लॉई 6 माह से भी कम समय में कार्य क्षेत्र बदलने के लिए तैयार रहते हैं। इसका फायदा यह होता है कि कुछ समय बाद वे कई स्किल में पारंगत हो जाते हैं। वर्तमान में सामान्यत: यदि कोई बैंकिंग से कंसल्टिंग या फिर मार्केटिंग से प्रोडक्ट मैनेजमेंट क्षेत्र में प्रवेश करता है तो उससे किसी भी तरह का प्रश्न नहीं पूछा जाता है। विभिन्न कंपनियों में अलग- अलग स्किल के साथ काम करने वाले लोगों को पुराने जनरेशन के किसी स्पेशलिस्ट की अपेक्षा ज्यादा महत्व दिया जाता है। आइए जानते हैं कॅरिअर में आगे बढ़ने के लिए किन बदलावों की जरूरत पड़ सकती है:

स्वयं को साबित करें
वर्कप्लेस पर जॉब को लेकर असुरक्षित महसूस करना एक मानवीय प्रवृत्ति है। बदलाव के साथ यह भावना और भी बढ़ जाती है। जब आप वैसी ही कंपनी में नए रोल या उसी कंपनी में अलग रोल का विकल्प चुनते है तो ऐसे में स्वयं को फिर से स्थापित और साबित करने की जरूरत होती है। आपका माहौल पूरी तरह से बदल जाता है। इस दौरान आपको ऐसे काम करने की जरूरत है जैसे कि यह आपकी पहली नौकरी है। यह आपके लिए चैलेंजिंग होगा। वर्कप्लेस पर थोड़ा दबाव भी बने रहने की संभावना होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here