बच्चे स्कूल में अच्छा करें तो पेरेंट्स इसे अपनी ही उपलब्धि मानते हैं. इसके लिए वे कई तरीके अपनाते हैं. कई बार ऐसा भी होता है कि बच्चे की बजाए वे खुद ही उसका होमवर्क करने लगते हैं और बच्चे पढ़ाई में कमजोर रह जाते हैं. हम आपसे शेयर कर रहे हैं कुछ तरीके, जिनसे बच्चा खुद अपना होमवर्क करने लगेगा.

good-parenting-tips-smart-parenting-tips-hindi
सबसे पहले तो बच्चे के होमवर्क के लिए एक जगह तय करें. घर छोटा हो तो भी कोई बात नहीं. इसके लिए अलग कमरे की जरूरत नहीं. कोने की कोई जगह देखें, जहां कम से कम शोर होता हो. यहां सूरज की रौशनी आती हो.

*बच्चे की पढ़ाई के लिए वक्त का तय होना भी जरूरी है. ये वक्त आप क अपनी जरूरत के हिसाब से तय न करें, बल्कि इस पर बच्चे से राय लें. कई बच्चे रात में तो कई सुबह उठकर पढ़ाई

होमवर्क कराते वक्त बच्चे को लीड करने दें. उसे सवाल करने दें और उसका जवाब भी उसे खुद ही खोजने को कहे. इससे बच्चा क्लास में भी अच्छा परफॉर्म करने लगेगा.

*बच्चे को कब अतिरिक्त मदद चाहिए और कब मदद से हाथ खींच लेना है, ये आपको खुद तय करना होगा. कई बार पेरेंट्स बच्चे के स्टडी बडी की तरह व्यवहार करने लगते हैं, जो बच्चे को आप पर निर्भर बना देता है. वहीं कई बार जरूरत से ज्यादा सख्त होना भी बच्चे के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है.
*बच्चा अगर होमवर्क करना भूल जाए तो हड़बड़ी में उसे होमवर्क न कराएं, बल्कि स्कूल जाकर अपनी भूल की सजा पाने दें. अगर एक बार आप उसकी भूल सुधारेंगे तो अगली बार और फिर हर बार भूलना या गलती करना उसकी आदत बन जाएगी. उसे समझाएं कि गलती की सजा खुद को ही भुगतनी होती है.

*कई पेरेंट्स होमवर्क के लिए ट्यूटर की मदद लेते हैं. वक्त की कमी हो तो ऐसा किया जा सकता है लेकिन छोटे-छोटे ब्रेक के साथ देखते रहें कि बच्चा क्या कर रहा है, कैसे पढ़ रहा है, उसका स्तर क्या है. इससे परीक्षा के वक्त आपको भी पढ़ाने में मुश्किल नहीं होगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *