बालों की देखभाल करें इस तरह : 5 सरल उपयोगी टिप्स| Hair Care: 5 Easy & Useful Tips in Hindi

0
हम यहाँ पर आपको हेल्थ केयर टिप्स हिंदी में (Hair care tips in Hindi) और हेयर स्पा को घर पर (Hair spa at home) कैसे करे ..Beauty tips, Skin Care, Hair Care, Beauty Treatments

बाल त्वचा की मृत कोशिकाओं रेशे के रूप में होने वाली वृद्धि है, जो सिर्फ स्तनधारी प्राणियों में पाई जाती है। ये एपिडर्मिस से निकलना शुरु होते हैं, हालांकि इनकी वृद्धि डर्मिस की गहराई में स्थित हेयर फॉलिकल्स से होती है। बालों के कई रूप होते हैं। कीटों में एक रेशेदार वृद्धि पाई जाती है लेकिन इसे बाल नहीं माना जाता क्योंकि यह बाल की मान्य परिभाषा के अनुरुप नहीं होती। पौधों पर पाई जाने वाली संरचना ट्राइकोम्स को भी आम भाषा में बाल कहा जाता है। इसी तरह आर्थोपोड समूह के जीवों जैसे कीट और मकडिय़ों में कीट शूक पाए जाते हैं जो बालों का आभास लिए होते हैं। मनुष्य के अलावा अन्य स्तनधारी प्रजातियों के बालों को आम तौर पर फर के नाम से पुकारा जाता है। बिल्ली, कुत् तों और चूहों की कई प्रजातियां हैं जिनमें बहुत कम या दिखाई न देने वाले फर पाए जाते हैं। कुछ प्रजातियों में जीवन के निश्चित दौर में बाल उपस्थित नहीं होते। बाल रेशों का प्राथमिक घटक केरेटिन है। केरेटिन एक प्रकार के प्रोटीन होते हैं जोकि एमीनो एसिड की लंबी श्रृंखला होती है। केरेटिन प्रोटीन साइटोस्केलेटॅन का निर्माण करते हैं। केरटिन एपिडर्मिस की कोशिकाओं, बालों, नाखूनों और फरों के मुख्य हिस्से होते हैं।

ताकि बाल रहें खूबसूरत : Tips for Hair Care
मौसम के मुताबिक बालों को देखभाल की जरूरत पड़ती है। लेकिन कुछ आदतें आपको हमेशा बालों को खूबसूरत बनाए रखनें में मदद करती हैं।
-समय-समय पर बालों की ट्रिमिंग करवा लें। ताकि गर्मी से हुए नुकसानों से सर्दियों में और सर्दियों से हुए नुकसान से गर्मियों में छुटकारा पा सकें।
-नमी की कमी के लिए कंडीश्निंग ट्रीटमेंट लें और पूरे महीने के यह एक या दो बार दोहराएं।
बाल धोने के लिए
– गुनगुने या ठंडे पानी से बाल धोएं। वरना यह आपके बालों और त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है।
-बालों में नमी हो जाने पर उन्हें ठंडे पानी से धो लें, इससे नमी बरकरार रहेगी और बालों की चमक भी बढ़ जाएगी।
– लगातार एक शैंपू के इस्तेमाल से भी बालों को नुकसान पहुंचता है। कभी-कभी अपने नियमित शैंपू को । अच्छे मॉइश्चराइजर वाले शैंपू व कंडीश्नर से बदलें।
– कंडीश्नर वाले बालों को धोने के लिए ठंडा पानी सबसे बेहतर होता है।
रूखेपन को करें दूर
– बालों के रूखेपन को दूर करने के लिए हेयर सीरम का इस्तेमाल करें।
-हफ्ते में एक बार अच्छे मॉइश्चराइजर का उपयोग जरूर करें।
– कंडीश्नर लगाकर बालों को १० मिनट तक तौलिए में लपेट लें ताकि यह आपके बालों की गहराई तक पहुंचे। उसके बाद सिर धो लें।
– हेयर स्टाइल बनाने से पूर्व सिलिकन वाले हेयर सीरम का उपयोग भी फायदेमंद हैं।
– एल्कोहल युक्त स्टाइलिंग प्रोडक्ट बालों को शुष्क बना देते हैं। इसलिए ऐसे उत्पादों के प्रयोग से बचें।
मजबूत बालों के लिए
– गीले बालों के साथ बाहर न जाएं, इससे बाल टूटने की संभावना बढ़ जाती है। बाहर अगर सर्दी या गर्मी ज्यादा होगी तो बाल कडक़ हो जाएंगे और वे टूट भी सकते हैं।
-अपने बालों पर ड्रायर और कर्लिंग आइरन जैसे उपकरणों का उपयोग कम से कम मात्रा में करें।
– अगर आपको इन उपकरणों का इस्तेमाल करना भी हैं तो पहले कंडीश्नर का इस्तेमाल करें।
-सप्ताह में तीन-चार बार बालों में तेल की मालिश करें। जिससे रक्त संचरण सुचारू रहता है और बालों की ग्रोथ भी अच्छी होती है। कुछ मात्रा में बालों के लिए धूप भी जरूरी है।

मौसम से बचाव
– ठंड और गर्मी में हवा से अपने बालों को बचाने के लिए स्कार्फ, हेट या छोटी टोपी लगाकर घर से बाहर निकलें लेकिन ध्यान रखें कि स्कार्फ इतना ज्यादा टाइट न हो कि ये खून के बहाव में परेशानी पैदा करे।
-स्कार्फ व टोपी के इस्तेमाल में इस बात का भी ध्यान रखें कि इनके नियमित इस्तेमाल बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए बीच-बीच में कुछ अंतराल के लिए इन्हें हटाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here