ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, मेकाट्रॉनिक्स , मेकैनिकल इंजीनियरिंग में करियर

0

मैनें इस वर्ष पीसीएम से बारहवीं की परीक्षा दी है और ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में बीटेक करना चाहता हूं, लेकिन मेरे कुछ दोस्त मुझे मेकाट्रॉनिक्स या मेकैनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने की सलाह दे रहे हैं। कृपया मुझे इंजीनियरिंग की इन तीनों ब्रांच की जानकारी दें और यह भी बताएं कि कॅरिअर के अवसर किसमें ज्यादा हैं।

तीनों ही विकल्प बेहतर हैं। रेफ्रिजरेशन, एयर कंडिशनिंग, मशीन टूल्स, पावर प्लांट्स, रेलवे, ऑटोमोबाइल, कृषि यंत्र, पल्प और पेपर, इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑटोमोबाइल्स और ऑटो पाट्र्स निर्माता, एरोस्पेस इंडस्ट्री, विमानन कंपनियों, स्टील प्लांट्स, इंजीनियरिंग कंसल्टेंसी, शिपिंग इंडस्ट्री, थर्मल प्लांट्स और गैस टर्बाइन मैन्यूफैक्चरर और अन्य इंडस्ट्रीज में प्रवेश पाने के लिए मेकैनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की जा सकती है। मेकैनिकल इंजीनियर तरह-तरह के इंजन, पावर प्लांट उपकरण, हीटिंग और कूलिंग सिस्टम्स और अन्य साधारण व जटिल मशीनरी के विकास में सहयोग करते हैं। मेकैनिकल इंजीनियर्स को मुख्य रूप से प्रॉडक्शन, ट्रांसमिशन और मेकैनिकल पावर के उपयोग से जुड़े काम करने होते हैं।
ऑटोमोबाइल इंजीनियर की जिम्मेदारियां भी कई तरह की होती हैं। इनका मुख्य उद्देश्य लागत को न्यूनतम रखते हुए ऑटोमोबाइल्स की डिजाइन और व्यवहारिकता को अधिकतम बनाना होता है। इस काम में वे ड्रॉइंग्स और ब्लू प्रिंट्स की मदद लेते हैं और प्लान को व्यवहारिक बनाने के लिए फिजिकल और मैथेमेटिकल सिद्धांतों का इस्तेमाल करते हैं। इस काम में काफी रिसर्च भी की जाती है। ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में मेकैनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक, सॉफ्टवेयर और सेफ्टी इंजीनियरिंग का भी हिस्सा शामिल किया जाता है जिसे ऑटोमोबाइल डिजाइन, विकास, मरम्मत, निर्माण और संचालन में इस्तेमाल किया जाता है।
मैकाट्रॉनिक्स एक ऐसी डिजाइन प्रक्रिया है जिसमें मेकैनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, टेलिकम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग, कंट्रोल इंजीनियरिंग और कम्प्यूटर इंजीनियरिंग का मिश्रण होता है। इसमें बीटेक/एमटेक करने के बाद आप मुख्य रूप से इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री में अवसर तलाश सकते हैं या ऑटोमोबाइल, मैन्यूफैक्चरिंग, गैस व ऑयल, माइनिंग, ट्रांसपोर्ट, डिफेंस, रोबोटिक्स, एरोस्पेस और एविएशन जैसे क्षेत्रों में जा सकते हैं। यही नहीं आप आर्मी, नेवी एयरफोर्स और डिफेंस रिसर्च और डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन और इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन जैसे संगठनों का भी हिस्सा बन सकते हैं।
कॅरिअर के लिहाज से तीनों शाखाएं अच्छी हैं और आपको ऑटोमोबाइल सेक्टर में प्रवेश दिला सकती हैं लेकिन मेकैनिकल इंजीनियरिंग बेहतरीन विकल्प रहेगा। मेकैनिकल इंजीनियरिंग देश के सभी शीर्ष कॉलेजों में उपलब्ध है और इसमें अवसर भीअधिक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here