5 बैंकों द्वारा फंडिंग सहायता – महिला उद्यमियों (आंत्रप्रेन्योर ) के लिए Need Funding For Your Business? Read This!

0
entrepreneurship- funding

देश के बढ़ते आंत्रप्रेन्योरियल इको-सिस्टम में महिलाओं की सामान भागीदारी है। हालांकि, जेंडर गेडी फीमेल आंत्रप्रेन्योरशिप इंडेक्स 2015 के मुताबिक महिला आंत्रप्रेन्योरशिप के मामले में भारत 77 देशों में 70वें स्थान पर है। वहीं लेबर फोर्स में भी महिलाओं की भागीदारी कम है। नेशलन सैंपल सर्वे ऑर्गनाइजेशन की छठी आर्थिक जनगणना के मुताबिक कई मामलों में पुरुषों के स्तर तक पहुंचने में महिलाएं काफी पीछे चल रही हैं। इस सर्वे के अनुसार देश में सिर्फ 14 फीसदी बिज़नेस ही महिला उद्यमियों द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। 5.85 करोड़ चालू व्यवसायों में सिर्फ 80 लाख व्यवसायों में शीर्ष पद पर कोई महिला है। महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे छोटे बिज़नेस में लगभग 79 फीसदी महिलाओं ने खुद का पैसा लगाया है। महिलाओं को बिज़नेस शुरू करने के लिए फंड जुटाने में भी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 2015 की एक रिपोर्ट के अनुसार 92 फीसदी वेंचर कैपिटल फर्म पुरुषों द्वारा संचालित हैं और इनके 4.2 फीसदी फंड ही महिला आंत्रप्रेन्योर्स को मिलते हैं। वेंचर कैपिटल फंड के अलावा भी कई अन्य विकल्प हैं जो महिलाओं को स्टार्टअप के लिए फंड जुटाने में मददगार हैं।

वेंचर कैपिटल फंड के अलावा भी कई अन्य विकल्प हैं जो महिलाओं को स्टार्टअप के लिए फंड जुटाने में मददगार हैं।

महिला आंत्रप्रेन्योर के लिए फंडिंग के हैं कई विकल्प
——————————————————

स्त्री शक्ति पैकेज:
यह उन महिलाओं के लिए है, जो छोटे बिज़नेस चलाती हैं, और उनके पास बिजनेस का 50 फीसदी स्वामित्व हो। राज्य स्तरीय एजेंसी द्वारा चलाए गए आंत्रप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम (ईडीपी) का हिस्सा रह चुकी महिलाएं ही इस लोन के लिए योग्य हैं। यदि आप 2 लाख से ज्यादा का लोन लेती हैं तो आपको ब्याज में ०.५० फीसदी की छूट मिल सकती है।
————————-
अन्नपूर्णा:
यह योजना सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया द्वारा संचालित है। इसके तहत महिलाओं को नया वेंचर शुरू करने के लिए आवश्यक वित्तीय सहायता दी जाती है। सेंट कल्याणी नए महिला उद्यमियों के साथ-साथ अनुभवी महिला उद्यमी, प्रोफेशनल्स और स्वयं का बिज़नेस करने वाली महिलाओं को लोन देती है। इसके अलावा रिटेल ट्रेडर्स, लघु उद्योग, कृषि से संबंधित क्षेत्र, ग्रामीण और कुटीर उद्योग का संचालन कर रही महिलाओं को लोन दिया जाता है।
———————————-
देना शक्ति:
देना बैंक द्वारा संचालित इस योजना के माध्यम से महिला स्वामित्व वाले बिज़नेस को लोन दिया जाता है। इसके तहत मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर और एग्रीकल्चर सेक्टर से संबंधित व्यवसाय कर रही महिलाओं को लोन मिलता है। इसके अलावा छोटे बिज़नेस, माइक्रो क्रेडिट, रिटेल स्टोर चलाने वाले भी इस लोन का लाभ ले सकते हैं। लोन लेने वाली महिलाओं को ब्याज दर में ०.२५ फीसदी की छूट मिलती है।
————————————-
सिडबी महिला उद्यम निधि:

स्मॉल इंडस्ट्रीज़ डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया की इस योजना का नाम महिला उद्यम निधि है। योजना के अन्तर्गत महिलाओं को नया बिज़नेस शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए तक की वित्तीय सहायता दी जाती है।
————————————
उद्योगिनी:
यह योजना पंजाब एंड सिंध बैंक द्वारा चलाई जा रही है। इस योजना के माध्यम से महिला व्यवसायियों को उदार शर्तों और कम ब्याज दर पर लोन दिया जाता है। छोटे बिज़नेस, रिटेल ट्रेडर्स, एग्रीकल्चर से संबंधित बिज़नेस चलाने वाली महिलाएं इसका लाभ ले सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here