विंटेज व क्लासिक कार ऑनर्स उत्सुकतापूर्वक जिस रैली में भाग लेने के लिए तत्पर हो जाते हैं वह है- राजपुताना ऑटोमोटिव स्पोट्र्स कार क्लब, जयपुर द्वारा आयोजित की जाने वाली विंटेज एण्ड क्लासिक कार रैली। विंटेज व क्लासिक कार रैली को जयपुर में एक नए स्वरूप में आरंभ करने का श्रेय जाता है- दयानिधि कासलीवाल को। जिनका इन कारों के प्रति रूझान एक जुनून बन चुका है। लगभग तेरह वर्ष पूर्व उन्होंने सुधीर कासलीवाल के साथ मिलकर इस कॉन्सेप्ट को मूर्त रूप दिया। लगभग आठ कारों के साथ आरम्भ की गई इस रैली में वर्तमान में सौ से अधिक कारें हिस्सा लेती हैं। देश-विदेश में लोकप्रिय यह कार रैली अनेक प्रमुख हस्तियों, सेलिब्रिटिज, पॉलिटिशियन्स आदि की रूचि का विषय है। राजमाता गायत्री देवी की इसमें विशेष रूचि थी और वे स्वयं प्रत्येक कार रैली में उपस्थित रहती थी। बारहवीं विंटेज एवं क्लासिक कार रैली स्व. राजमाता गायत्री देवी को समर्पित थी।
दयानिधि कासलीवाल (प्रेसिडेंट-राजपुताना ऑटोमोटिव स्पोटर्स कार क्लब) ने इसे स्वयं हर प्रकार से बढ़ावा देने की कोशिश की और इसे अंतरराष्ट्रीय पटल पर पहचान व लोकप्रियता दिलाई। कुछ दशक पूर्व जिन कारों को लोग पुरानी कह इन्हें नजर अंदाज किया करते थे,उन कारों को  इस रैली के चलते एक नई पहचान मिली है। यह कार रैली पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का कें द्र बन चुकी है। इस विंटेज एवं क्लासिक कार रैली ने पर्यटन के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यूके, यूएसए, जर्मनी, फ्रांस, इटली, ऑस्ट्रेलिया निर्मित कन्वर्टिबल, सेडान, ओपन, कूपे, टर्गा – (बेंटले, रॉल्स रायस, पोर्श, फरारी, डेमलर, कैडिलक, मर्सिडिज, पैकार्ड) आदि कारेंं इस रैली का हिस्सा हैं। इस कार रैली की एक प्रमुख विशेषता है कि यह कार रेस नहीं है,बल्कि इसमें सर्वश्रेष्ठ कार, सर्वश्रेष्ठ रख-रखाव आदि के लिए प्रतिष्ठित जजेस पेनल द्वारा अंक दिए जाते हैं और अन्य मानदण्डों पर खरा उतरने वाली कारों को चयनित कर पुरस्कृत किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *