ब्यूटी ऐंड वेलनेस इंडस्ट्री – सैलरी, करियर ग्रोथ , नॉलेज ,ब्यूटी इंस्टीट्यूट्स, चैलेंज -संभावनाएं

0

बदलती लाइफस्टाइल में हर कोई सुंदर और स्मार्ट दिखना चाहता है। खूबसूरत दिखने की चाह में लोग अधिक पैसे खर्च करने से भी परहेज नहीं करते। यही वजह है कि भारत में आज ब्यूटी ऐंड वेलनेस इंडस्ट्री तेजी से फल-फूल रही है।  वर्तमान समय में ब्यूटी बिजनेस का वर्ल्ड मार्केट लगभग 11 हजार करोड रुपये का है। मार्केट एक्सपर्ट्स का अनुमान है कि अगले कुछ वर्षो में यह इंडस्ट्री 30-35 प्रतिशत की दर से ग्रो करेगी। भारतीय कॉस्मेटिक बाजार की बात करें, तो यह लगभग 4,580 करोड रुपये का हो गया है।

करियर विद फैशन

कुछ वर्ष पहले तक ब्यूटी इंडस्ट्री, ब्यूटी सैलून या इससे जुडी एक्टिविटीज तक ही सीमित थी, लेकिन प्राय: हर आदमी में सुंदर दिखने की चाहत ने इस इंडस्ट्री को बुलंदियों पर पहुंचा दिया है। खास बात यह भी है कि महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों में भी सुंदर दिखने की यह चाहत मेट्रो शहरों के अलावा छोटे-छोटे शहरों में भी दिखने लगी है। यही कारण है कि इन दिनों इसमें आमदनी अधिक होने और मार्केट में ज्यादा एक्सपोजर मिलने के कारण यह संभावनाओं वाला करियर साबित हो रहा है। कंज्यूमर की भारी डिमांड को देखते हुए ही कई घरेलू और विदेशी कंपनियां इंडिया में अपना बिजनेस आरंभ कर रही हैं।  इंडियन ब्यूटी मार्केट अभी शुरुआती दौर में है, इसलिए आने वाले समय में

इसमें करियर ग्रोथ अपार संभावनाएं हैं।
यह उद्योग फेयरनेस, हेल्दी स्किन क्रीम से आगे बढकर ब्यूटी सैलून, स्पा और जिम तक जा पहुंचा है। सबसे बडी बात तो यह है कि ब्यूटी इंडस्ट्री अब केवल मेट्रो सिटी तक सीमित नहीं है, बल्कि छोटे शहरों में भी इसने पांव फैलाने शुरू कर दिए हैं। इसलिए ब्यूटी प्रोडक्ट्स की मांग छोटे और बडे शहरों में बराबर है।

कंज्यूमर तक पहुंच बनाने के लिए व्यवसायियों को बडी संख्या में ब्रांड वैल्यू के प्रति जागरूक करना होगा। यह सच है कि कुछ वर्ष पहले तक ब्यूटी बिजनेस को लोग कुछ खास अच्छी निगाह से नहीं देखते थे। अब इस क्षेत्र में बडे नाम वंदना लूथरा, ब्लॉसम कोच्चर, शहनाज हुसैन जैसे जाने-माने नामों जुड जाने के कारण यह सेक्टर अब सम्मान की दृष्टि से देखा जाने लगा है। ऐसे में इस क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक युवा जरूरी ट्रेनिंग लेकर किसी मशहूर ब्यूटी चेन में जॉब कर सकते हैं या फिर कम पूंजी में ही खुद का ब्यूटी सेंटर खोल सकते हैं।

पर्सनल स्किल

ब्यूटी बिजनेस में आपको दिन भर में कई कस्टमर्स से मिलना-जुलना पडता है। यदि आप उनसे विनम्रता से और मुस्कुराकर बात नहीं करेंगे या प्रोडक्ट्स के बारे में सही जानकारी नहीं दे पाएंगे, तो इस क्षेत्र में अच्छा मुकाम हासिल करना मुश्किल हो जाएगा। ब्यूटी विशेषज्ञ शहनाज हुसैन मानती हैं कि इस व्यवसाय में आगे बढने के लिए अच्छी कम्युनिकेशन स्किल और सॉफ्ट लैंग्वेज होना बहुत जरूरी है। साथ ही, आपको ब्यूटी ट्रेंड के प्रति रुचि और जानकारी भी होनी चाहिए। चूंकि फैशन की दुनिया में स्टाइल और ट्रेंड हर दिन बदलते रहते हैं, इसलिए आपको नई तकनीक, हेयरस्टाइल्स, मेकअप और कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के बारे में अपडेट रहना होगा। एंटरप्रेन्योर बनने के लिए हमेशा कुछ नया सीखने की प्रवृत्ति और हार्ड वर्किग बहुत जरूरी है। इसमें एंट्री बारहवीं के बाद की जा सकती है, लेकिन यदि आप कम से कम ग्रेजुएट हैं, तो कामयाबी के चांसेज और बढ जाते हैं।

कोर्स

ब्यूटी बिजनेस में जॉब करने या एंटरप्रेन्योर बनने के लिए आप उपलब्ध तीन से छह महीने के शॉर्टटर्म कोर्स भी कर सकते हैं। आमतौर पर ऐसे कोर्स ब्यूटी चेन चलाने वाली जानी-मानी कंपनियों द्वारा चलाए जाते हैं। ऐसे कुछ प्रमुख कोर्सो के नाम इस प्रकार हैं —

एडवांस्ड डिप्लोमा इन कॉस्मेटोलॉजी
डिप्लोमा इन ब्यूटी कल्चर
सर्टिफिकेट कोर्स इन स्किन केयर
ऑप्शंस की भरमार

इस क्षेत्र में जरूरी कोर्स करने के बाद आपके पास कई ऑप्शंस मौजूद होते हैं। इनमें से किसी एक का चुनाव कर अपने पसंदीदा क्षेत्र में खूबसूरती के साथ करियर बनाया जा सकता है। ऐसे प्रमुख क्षेत्र हैं : सैलून ओनर, सैलून चेन मैनेजमेंट, कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ब्यूटीकेयर, पीआर स्पेशलिस्ट, मैन्युफेक्चरर, सेल्स रिपे्रजेंटेटिव, फैशन स्टाइलिस्ट, ब्यूटी मैग्जीन राइटर, स्कूल इंस्ट्रक्टर, ब्यूटीकेयर डिस्ट्रीब्यूटर, रिसर्च केमिस्ट, ब्यूटी प्रोडक्ट डिजाइनर, ब्यूटी बिजनेस कंसल्टेंट, ट्रेड शो डायरेक्टर, ब्यूटी स्कूल ओनर आदि।

आकर्षक सैलरी

किसी ब्यूटी सैलून या सेंटर में जॉब की शुरुात में आपकी स्टार्टिग सैलरी 2.3-6 लाख रुपये प्रतिवर्ष हो सकती है। इस क्षेत्र में दो तरह से शुरुआत की जा सकती है। आप या तो अपना खुद का व्यवसाय कर सकते हैं या किसी एक्सपर्ट के असिस्टेंट भी बन सकते हैं। यदि आप पॉपुलर एंटरप्रेन्योर हैं, तो आपकी कमाई लाखों में हो सकती है। वहीं आप यदि असिस्टेंट के रूप में काम शुरू करते हैं, तो शुरुआती सैलरी प्रतिमाह 15-30 हजार रुपये तक हो सकती है।

सेलेक्शन सोच समझकर

कई बार हम मात्र कमाई या बडे नाम के आकर्षण की वजह से गलत करियर का चुनाव कर लेते हैं। यदि आप सजने-सजाने के शौकीन हैं, तभी इस करियर का चुनाव करें। कभी भी दूसरों की सुनी-सुनाई बातों पर ध्यान न दें। इससे आप न केवल परेशान हो सकते हैं, बल्कि अपने काम को भी ठीक ढंग से अंजाम नहीं दे सकते। वंदना लूथरा कहती हैं कि जब मैंने इस व्यवसाय की शुरुआत की थी, तो मेरे आसपास रहने वाले लोग इसे न केवल कम करके आंकते थे, बल्कि इसे प्रोफेशन कम, अपना शौक पूरा करने का साधन अधिक मानते थे। यदि आपने इस क्षेत्र में करियर बनाने का मन बना लिया है, तो फिर परेशान होने की बजाय अपने काम पर ध्यान दें, क्योंकि इस सेक्टर में अपॉरच्युनिटी की कोई सीमा नहीं है।

प्रोफेशनल नॉलेज

ब्यूटी बिजनेस कई क्षेत्रों में बंटा हुआ है। आप यदि इस प्रोफेशन में शिखर पर जाना चाहते हैं, तो प्रोफेशनल नॉलेज बहुत जरूरी है। इसके लिए समुचित प्रशिक्षण अनिवार्य है। डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप एडवांस लेवल पर किसी एक क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन भी कर सकते हैं। चूंकि यह पूरी तरह से फैशन और स्टाइल से जुडा क्षेत्र है, इसलिए आपको देश और दुनिया के बदलते फैशन पर भी लगातार नजर रखते हुए खुद को अपडेट करते रहना होगा।

ब्यूटी इंस्टीट्यूट्स–

शहनाज हर्बल इंटरनेशनल ब्यूटी एकेडमी, नई दिल्ली और मुंबई
वीएलसीसी इंस्टीट्यूट्स, फ्रेंचाइजी एक्रॉस इंडिया
हबीब हेयर एकेडमी, फ्रेंचाइजी एक्रॉस इंडिया
स्नेल हंस ब्यूटी स्कूल, मुंबई
डॉ. धर्माबल गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक फॉर वूमन, चेन्नई
वूमंस टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, वाईडब्ल्यूसीए, नई दिल्ली
आईटीजी

ब्यूटी की पब्लिसिटी

ब्यूटी बिजनेस में खुद को जमाने और आगे बढाने के लिए पब्लिसिटी जरूरी है। इस इंडस्ट्री में कामयाबी पाने के गुर बता रही हैं जानी-मानी ब्यूटीशियन शहनाज हुसैन..

इंडस्ट्री में बूम की वजह क्या है?

इन दिनों महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों में ब्यूटी कॉन्शसनेस बढी है। दरअसल, इससे न केवल ब्यूटी ट्रीटमेंट मिलती है, बल्कि रिलैक्सेशन और आत्मविश्वास भी बढता है। यही कारण है कि आज के युवा इस क्षेत्र में करियर बनाने में खूब दिलचस्पी ले रहे हैं।

इस फील्ड के चैलेंज क्या हैं?

वर्ष 1971 में मैंने भारत में हर्बल केयर इंट्रोड्यूस किया था। मेरे सामने नेचुरल केयर के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने का चैलेंज था। दूसरे, मुझे इंटरनेशनल मार्केट में एंट्री पानी थी, जिसके लिए मुझे अथक परिश्रम करना पडा। इस क्षेत्र में स्थापित होने के लिए आपको न्यू ट्रेंड्स और तकनीक की जानकारी रखना बहुत जरूर है।

क्या देश-विदेश में अच्छी तरह स्थापित होने के लिए व्यवसाय की पब्लिसिटी जरूरी है?

मैंने वर्ष 1980 में लंदन के फेस्टिवल ऑफ इंडिया में भाग लिया था। बिना किसी विज्ञापन और आर्थिक मदद के विदेश में भारतीय सामान बेचना आसान काम नहीं था। आश्चर्य की बात यह हुई कि तीन दिन में ही मेरे सभी प्रोडक्ट्स बिक गए। कहने का मतलब यह है कि यदि आप बढिया माल तैयार करते हैं या औरों से अच्छा काम करते हैं, तो आपको आगे बढने से कोई नहीं रोक सकता है लेकिन बाजार की प्रतिस्पद्र्धा में खुद को बनाए रखने के लिए पब्लिसिटी जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here