शिक्षा का महत्व पर निबंध (न इंटरव्यू, न बस्ते का बोझ ——पब्लिक स्कूल )

0

——पब्लिक स्कूल
प्रवेश के लिए न इंटरव्यू, न बस्ते का बोझ और न ही अभिभावको पर अधिक आर्थिक बोझ, यह पहचान है एशिया की सबसे बड़ी कॉलोनी मानसरोवर में पिछले डेढ़ दशक से संचालित आकाशदीप पब्लिक स्कूल की। सीबीएसई से मान्यता प्राप्त अंग्रेजी माध्यम से सह शिक्षा नर्सरी से 10 प्लस 2 कला, वाणिज्य, विज्ञान की शिक्षा यहां दी जाती है। 2 एकड़ भूमि पर आधुनिक सुविधाओं से युक्त परिसर में तरणताल,स्केटिंग,टेनिस,घुड़सवारी,क्रिकेट
इन्डोर,आउटडोर गेम्स, योगा, संगीत, कम्प्यूटर आदि का प्रशिक्षण दिया जाता है। बच्चों पर बस्ते का बोझ कम करने के लिए गृह कार्य विशेष तकनीक से कराया जाता है। विज्ञान,गृह विज्ञान की आधुनिक प्रयोगशालाएं विस्तृत पुस्तकालय,योग्य व अनुभवी व स्थाई शिक्षकगण छात्रों के भविष्य संवारने में तत्पर हैं। सौ प्रतिशत रिजल्ट व अधिकांश छात्र 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करते हैं। वर्तमान में नर्सरी से ११वीं कक्षा में प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन जारी हैं। विद्यालय की अपनी वाहन व्यवस्था है। सत्र 201४-201५ के लिए प्रवेश चालू हैं। राष्ट्रपति सम्मानित चीन,इंग्लैंड,रूस,थाइलैण्ड,फ्रांस,जर्मनी सहित अनेक देशों का शैक्षिक भ्रमण कर चुके प्रख्यात शिक्षाविद् संस्था के निदेशक—– के अनुसार प्रवेश के लिए साक्षात्कार न लेकर छात्रों को मानसिक दबाव से मुक्त रखा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here