चाणक्य नीति जो आपने अब तक नहीं जानी-सुनी…एक धोखेबाज़ व्यक्ति के साथ उससे भी ज्यादा धोखेबाज़ी करिए।

0

-अगर आप दुनिया को बेवकूफ बनाना चाहते हैं तो पूरी बात बिल्कुल सच बताएं।
-सबसे महत्वपूर्ण बात इतिहास रचना है, कि इतिहास लिखना।
-राजनीति करना किसी खूबसूरत कला की तरह है।
-किसी कार्य को करने के लिए जो प्रिंसिपल बनाए गए हैं, अगर आप उन्हें सच समझ रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप कभी उस काम को प्रैक्टिकल रूप देने का प्रयास नहीं करेंगे।
-अच्छे, सच्चे, ईमानदार व्यक्ति के साथ और ज्यादा अच्छे तरीके से, पूरी सच्चाई के साथ और ईमानदारी से पेश आइए। एक धोखेबाज़ व्यक्ति के साथ उससे भी ज्यादा धोखेबाज़ी करिए।
-राजनीति को विज्ञान कहना बिल्कुल गलत है।
-लोग सबसे ज्यादा झूठ तीन बार कहते हैं- चुनाव से पहले, जंग के दौरान और शिकार करते वक्त।
-कानून के प्रति इज्जत बरकरार रखना चाहते हैं तो उनके बनने की प्रक्रिया को कभी मत देखिए।
-राजनीति, आपके चरित्र को तबाह कर सकती है।
-राजा शासन तो करता है, लेकिन हुकूमत नहीं करता है।
-राजनीति में तब तक किसी बात पर विश्वास मत करिए जब तक उस बात की घोषणा नहीं हो जाती है।
-इतिहास से हम क्या सीख सकते हैं, यही कि कोई व्यक्ति इतिहास से कभी- कुछ नहीं सीख सकता है।
-मूर्ख लोग खुद की गलतियों और अनुभवों से सीखते हैं, जबकि समझदार लोग दूसरों के अनुभवों से सीखने में विश्वास रखते हैं।
– जो घटनाएं हो रही हैं, मनुष्य उन्हें बदल नहीं सकता, लेकिन उनके साथ आगे बढ़ जरूर सकता है।
– पत्रकार ऐसा व्यक्ति है, जो कई बार खुद की आवाज़ को सुनने में असमर्थ हो जाता है।
– जंग के समय बेहतरीन स्पीच देने से कोई मतलब नहीं है, लेकिन गोली का निशाने पर लगना महत्वपूर्ण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here