घुटने की घिसावट -असरदार उपाय

0

विटामिन से घुटने की घिसावट कम होने पर दस साल बढ़ेगी उम्र

वॉच
एंटी एजिंग में यूज होने वाले विटामिन को अब घुटने की उम्र बढ़ाने के लिए भी उपयोग किया जा रहा है। रिप्लेसमेंट में लगाए जाने वाले आर्टिफिशियल नी की डिजाइनिंग में विटामिन इंजेक्ट किया गया है। नी की पॉली में इंजेक्ट किए गए विटामिन के कारण ऑक्सीडेशन नहीं होने पर फ्री रेडिकल नहीं बनेंगे। इससे घुटने की घिसावट कम होने से 15 साल से बढ़कर उम्र 30 साल हो जाएगी। इंप्लांट नी से निकलने वाले पार्टिकल्स हड्डियों पर रिएक्शन करते हैं। इससे घुटने ढीले पड़ने पर उम्र कम होती है। टाइटेनियम नेबोमियम नाइट्रेट की गोल्डन कलर की कोटिंग से घिसावट कम होगी। हाल ही में यह घुटना डिजाइन किया गया है। इससे पेशेंट को नी रिप्लेसमेंट के बाद होने वाले दर्द से राहत मिलेगी। आर्टिफिशियल नी की डिजाइनिंग हर देश की आवश्यकता को मद्देनजर रखते हुए अलग-अलग तरीके से की जाती है। अमेरिका और हिंदुस्तान की लाइफस्टाइल अलग-अलग होने से घुटनों की डिजाइनिंग अलग-अलग होती है। अमेरिका में घुटने की बेडिंग कम होती है जबकि हिंदुस्तान में घुटने को ज्यादा मोड़ा जाता है। इसलिए इंडिया के घुटने की डिजाइनिंग इसी आधार पर होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here