करियर -विषय का सही चुनाव करने से ही जाएगा सही दिशा में करियर How to Make a Career Choice

0
How to Make a Career Choice
How to Make a Career Choice

निश्चित तौर पर आज के युवा काफी जागरूक हो गए हैं और आज के सूचना प्रोद्यागिकी के युग में उनके लिए यह आसान है कि वे आवश्यक जानकारी जुटाकर यह सुनिश्चित कर लें कि वे किस फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं।
लेकिन  दसवीं के बाद  क्या किया जाए और किस विषय को चुना  जाए  यह एक महत्वपूर्ण कारक है,  इसी पर भविष्य की नींव टिकी होती है। यदि करियर के अनुसार विषय का चुनाव किया जाए तो लक्ष्य हासिल करना आसान हो सकता है लेकिन बहुधा ऐसा होता नहीं है। युवा बनना कुछ ओर चाहते हैं लेकिन परिवार के दबाव या किन्हीं ऐसे ही कारणों से उन्हें अपनी महत्तवाकांक्षाओं का रूख मोडऩा  पड़ता है करियर में सफलता पाने के लिए  आत्म विश£ेषण करना बेहद आवश्यक है, क्योंकि ऐसा न करने की  स्थिति में नए विषय लेकर तैयारी भी अधिक करना पड़ती है, जिसमें समय भी अधिक व्यय होता है और मेहनत भी  ज्यादा करना पड़ती है।

सबसे आवश्यक है कि सर्वप्रथम स्वयं की रूचियों का आकलन करें कि आप किस विषय में अधिक दक्ष हैं।यदि आपने किसी विशय में कम मेहनत के बावजूद अच्छे अंक प्राप्त किए हैं,  उस पर विचार करें बनिस्बत उनके जिन पर आपने मेहनत भी अधिक की,अंक भी अधिक प्राप्त नहीं हुए और विषय भी बोझिल लगे।  विभिन्न स्त्रोंतों से जैसे-इंटरनेट,पुस्तकों  आदि से जानकारी इकटठ करें व जानें कि आपकी रूचि के अनुसार क्या करियर ऑप्शन हो सकते हैं।जिस विषय को  आप अपने करियर के अनुसार चुनते  हैं,उससे संबंधित स्किल्स जांचें, क्या आपकी तार्किक क्षमता ,भाषा की जानकारी आदि इससे मेल खाती है, विषय चुनाव से पहले एप्टीट्यूट टैस्ट करवाना भी बेहतर रहता है।इससे आपकी क्षमताओं का आकलन किया जा कसकता है  और यह जानकारी लेना भविष्य  निर्धरण के लिए कारगर साबित हो सकता है है पूर्व में ही यह जानकारी मनोवैज्ञानिकों की मदद से लेना कि आपकी संबंधित विषय को पढऩे,समझने और याद करने की क्षमता कैसी है  अर्थात आईक्यू एसेसमेंट भी एक उपयोगी टूल साबित हो सकता है। सामान्य तौर भी आप सेल्फ इंटरेस्ट एसेसमेंट करके अपनी रूचि जान कर उसी के अनुसार अपने करियर की दिशा निर्धारित कर सकते हैं।
लेकिन यह बेहद आवयसक है कि किसी व्यक्ति विशेष की सलाह का अंधानुकरण न करें, बल्कि सभी तरह की जानकारी सभी स्त्रोंतों से इकटठा कर उसका आकलन कर विषय विशेषज्ञों से सलाह मशविरा कर किसी नतीजे पर पहुंचें। यह बेहद महत्तवपूर्ण समय होता है जब आप को किसी विषय का चयन करना होता है क्योंकि इसी पर आपके भविष्य की नींव टिकी है।
एक और महत्तवपूर्ण तथ्य कि यदि आप कियी विषय में दक्षता हासिल करना चाहते हैं तो उसी के अनुसार विषय का चुनाव ही काफी नहीं बल्कि उस विषय का चुनाव करने के पश्चात् उस के प्रति खुद को पूर्ण रूप से समर्पित कर देना अनिवार्य है। याद रखिए,मेहनत ही एक ऐसा टूल है जिसका कोई विकल्प नहीं और मेहनत ही है,जो आपकी सभी महत्तवाकांक्षाओं को पूर्ण कर सकती है और इसी के द्वारा आप अपने सपने को साकार कर सकते  हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here