entrepreneurship

इनोवेटर्स में कुछ खास खूबियां होती हैं। यह सिर्फ एक पल की बात नहीं होती जब एक शानदार आइडिया दिमाग में आता है और वे इनोवेटर बन जाते हैं। इनोवेटर लगातार काम में, विचारों में, उधेड़बुन में लगे रहते हैं। तब किसी फैसले पर पहुंचते हैं और आइडिया आता है। जानते हैं वे कौन-सी बातें हैं जो इनोवेटर्स को खास बनाती हैं।
————————-
ऐसा होता है इनोवेटर्स के काम का तरीका
———————
इनोवेटर्स की एक खूबी होती है कि लक्ष्य देखकर वे खुद-ब-खुद उसे हासिल करने के लिए मोटिवेट हो जाते हैं। अगर सफलता का उन्हें रिवार्ड मिलता है तो यह उन्हें और काम करने के लिए प्रेरित करता है। लेकिन इनकी सबसे बड़ी खासियत होती है। नए विचार के साथ सामने आना। दूसरे लोग इनके काम से प्रभावित होते हैं। इसलिए ये प्रोजेक्टस को आगे ले जाते हैं और लोग इनके साथ जुड़ते जाते हैं। वे काम में आगे बढ़ने के लिए हर हद तक जाते हैं, इसलिए कुछ लोग इन्हें एरोगेंट भी कह सकते हैं।
————————–
वे हर नई चीज को तर्कसंगत तरीके से स्वीकार करने के लिए तैयार रहते हैं। क्योंकि जब नए आइडिया पर काम करना होता है तो कई काम पहली बार होते हैं। कई नई चीजें बनानी होती हैं। उनके लिए एक लाइन सटीक होती है- जहां चाह वहां राह। इसलिए जब वे कुछ करना ठान लेते हैं तो उसे पूरा करने के लिए हर तरह का जोखिम उठाते हैं। अपना पूरा समर्पण, समय और उर्जा एक ही काम में लगाते हैं।
—————————–
-ये जोखिम तो लेते ही हैं, लेकिन स्थिति को कभी अपने हाथ से निकलने नहीं देते। वे टीम से उम्मीद करते हैं कि काम की हर प्रगति की जानकारी उन्हें नियमित रूप से दी जाए। वे चाहते हैं कि हर चीज अपनी जगह पर हो और तय समय पर पूरी कर ली जाए। वे बिजनेस के हर पक्ष का पूरा ध्यान रखते हैं। चाहे वो सेल्स हो, प्रोडक्शन, या फाइनेंस। पूरा बिजनेस उनके व्यक्तित्व के इर्द-गिर्द ही चलता है।
———————–
-इनोवेटर्स की एक खूबी होती है कि वे हमेशा खुद जमीन पर बने रहते हैं और अपने साथ काम करने वालों को भी हकीकत से वाकिफ कराते रहते हैं। वे हर काम को एक कदम आगे ले जाना चाहता हैं। काम खत्म होने के बाद उसकी समीक्षा करते हैं और देखते हैं कहां कमी रह गई। अगली बार वे इसे दूर करने पर फोकस करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *