hanuman ji aarti | hanuman ji ki aarti lyrics | aarti kije hanuman | hanuman ji ki aarti mp3 | shri hanuman ji ki aarti | shri hanuman ji ki aarti | aarti kije hanuman lala ki mp3 download

 

गगन में थालु रवि चंदु दीपक बने,

तारिका मंडल जनक मोती।

धूममल आनलो पवनु चंवरो करे,

सगल बनराई पुलन्त जोती।

कैसी आरती होई भव खण्डना तेरी आरती।

अनहता सबद बाजत भेरी। रहाउ।

सहस तव नैन नन नैन है तोहि कउ,

सहस मूरति नना एक तोही।

सहस पद विमल नन एक पद गंध बिनु

सहस तव गन्ध इव चलत मोहि।

सब महि जोति जोति है सोई,

तिसके चानणि सभ महि चानणु होई।

गुरसाखी जोति परगटु होई,

जो नित भावे सु आरती होई।

हरि चरण कमल मकरन्द लोभित मनो,

अनदीनो मोहि आही पिआसा।

कृपा जल देहि नानक सारिंग कउ,

होई जाते तेरे नामि वासा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *